बल-आघूर्ण (Moment of force or Torque) PDF In Hindi

बल आधूर्ण एंव बल-युग्म

बल-आघूर्ण (Moment of force or Torque)

Read Also —


बल द्वारा एक पिण्ड को एक अक्ष के परितः घुमाने की प्रवृत्ति को बल-आघूर्ण कहते हैं। किसी अक्ष के परितः एक बल का बल-आघूर्ण उस बल के परिमाण तथा अक्ष से बल की क्रिया-रेखा के बीच की लम्बवत् दूरी के गुणनफल के बराबर होता है अर्थात्, बल-आघूर्ण = बल x बलबाहु (Moment of Force = Force x Force-arm) यानी बल को अक्ष से अधिक दूरी पर लगाया जाए, तो उसका बल-आघूर्ण अधिक होगा। बल-आघूर्ण एक सदिश राशि है, इसका SI मात्रक न्यूटन मीटर होता है।

 👉


Dwanload Also :- 


Post a Comment

0 Comments